मध्‍य रेल, मुख्‍यालय, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई में हिंदी के सुप्रसिद्ध साहित्‍यकार रामधारी सिंह ‘दिनकर’ की जयंती एवं हिंदी की विकास यात्रा में गैर भाषा-भाषियों का योगदान विषय पर संगोष्‍ठी संपन्‍न।

0

मध्‍य रेल मुख्‍यालय में राजभाषा पखवाड़े के अवसर पर दिनांक 23.09.2019 को हिंदी के सुप्रसिद्ध साहित्‍यकार रामधारी सिंह ‘दिनकर’ की जयंती एवं हिंदी की विकास यात्रा में गैर भाषा-भाषियों का योगदान विषय पर संगोष्‍ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विशिष्‍ट अतिथि के रूप में मुंबई विश्‍वविद्यालय के हिंदी विभाग के अध्‍यक्ष एवं प्रोफेसर डॉ. करूणा शंकर उपाध्‍याय उपस्थित थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में विशिष्‍ट अतिथि द्वारा दिनकर जी की प्रतिमा पर मार्ल्‍यापण कर एवं उप महाप्रबंधक (राजभाषा), वरिष्‍ठ राजभाषा अधिकारी (मुख्‍यालय) एवं महाप्रबंधक कार्यालय के अन्‍य अधिकारियों के साथ दीप प्रज्‍ज्‍वलित कर जयंती समारोह एवं संगोष्‍ठी का शुभारंभ किया गया। उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को संबोधित करते हुए उप महाप्रबंधक (राजभाषा) श्री विपिन पवार ने दिनकर जी के व्‍यक्तित्‍व एवं कृतित्‍व पर विस्‍तार से प्रकाश डाला। उन्‍होंने दिनकर जी के जीवन से जुड़े कुछ रोचक अनुभवों से सभी को अवगत कराते हुए दिनकर जी की कविता का वाचन किया। तत्‍पश्‍चात डॉ. करूणा शंकर उपाध्‍याय ने दिनकर जी के व्‍यक्तित्‍व एवं कृतित्‍व के बारे में अपने विचार व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि दिनकर जी की कविताएं राष्‍ट्र प्रेम से ओतप्रोत हैं। दिनकर जी के साहित्‍य पर विस्‍तार से प्रकाश डालते हुए उन्‍होंने कहा कि दिनकर जी प्रेम, ओज और यौवन के कवि थे। कार्यक्रम के अगले चरण में हिंदी की विकास यात्रा में गैर भाषा-भाषियों के योगदान पर विस्‍तार से विचार व्‍यक्‍त करते हुए उन्‍होंने विश्‍व के कई देशों का उल्‍लेख करते हुए कहा कि यदि हम मातृभाषा में काम करें तो और अधिक प्रगति कर सकते हैं। उन्‍होंने शिक्षा का माध्‍यम केवल भारतीय भाषाओं के होने पर भी बल‍ दिया। इसके पश्‍चात मुख्‍यालय राजभाषा विभाग में कार्यरत वरिष्‍ठ अनुवादक श्री किशोर कुदरे द्वारा लिखित कविता संग्रह ‘मन मंथन’ का विमोचन किया गया। कार्यक्रम के अंत में श्री राम प्रसाद शुक्‍ल, वरिष्‍ठ राजभाषा अधिकारी (मुख्‍यालय) द्वारा उपस्थित सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के प्रति आभार व्‍यक्‍त किया गया।

www.forevernews.in

Share.

About Author

Maintain by Designwell Infotech