लालू दान में मिली संपत्ति वापस करें :मोदी

0

पटना: बिहार में बीजेपी नेता सुशील मोदी ने आज एक बार फिर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ कड़े तेवर अपनाए हैं. सुशील मोदी ने लालू को चुनौती देते हुए कहा है कि लालू दान में मिली सभी संपत्ति को वापस करें. सुशील मोदी ने कहा कि लालू भ्रष्टाचारी हैं और एक हजार  से ज्यादा की बेनामी संपत्ति उन्होंने इक्ट्ठा कर रखी है.

Sushil-Modi

सुशील मोदी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ‘’लालू ने अबतक केवल एक सम्पत्ति का खंडन किया है, जबकि मैंने अबतक कई सम्पत्तियों का खुलासा किया है. अगर लालू में हिम्मत है तो वह सभी जमीनों के दस्तावेज जारी करें और बताएं की ऐसी कोई जमीन हमाने पास नहीं हैं. अगर मेरे आरोपों में दम नहीं है तो लालू यादव मेरे आरोपों से इंकार क्यों नहीं करते हैं.’’

सुशील मोदी ने कहा, ‘’मीसा भारती और शैलेश कुमार को क्यों इनकम टैक्स के दफ्तर के चक्कर काटने पड़ रहे हैं? अभी तो 12 सम्पत्ति जब्त हुई हैं. ऐसे में वह कह दें कि सम्पत्ति हमारी नहीं हैं. क्यों मुकदमा लड़ रहे हैं.’’

सुशील मोदी ने आगे कहा, ‘’जिसका मान सम्मान होगा वहीं तो मानहानी का मुकदमा करेगा. मोदी ने शहाबुद्दीन का उदाहरण देते हुए कहा, अब अगर शहाबुद्दीन कहे कि मुझे डॉन कह दिया, मुझे बाहुबली कह दिया. ऐसे में क्या उसे साफ छवि वाला बताया जाएगा. क्या वह मानहानि का मुकदमा करेगा? ऐसे में भ्रष्टाचारी को भ्रष्टाचारी कहना क्या मानहानि है?

सुशील ने कहा कि लालू परिवार ने रघुनाथ झा, कांति सिंह, ललन चौधरी, हृदयानंद चौधरी, प्रभुनाथ यादव, सुभाष चौधरी से मिले दान को आज तक कैंसिल क्यों नहीं किया?
मोदी ने लालू से सवाल किए और कहा, ‘’तेज प्रताप को  तीन साल आठ महीने की उम्र में दान मिला तब तो आपने कैंसिल किया, अगर दान नहीं मिला तो कैंसिल क्यों किया? अगर इस दान पर आपकी सहमति नहीं थी या अधूरा था तो इसे कैंसिल करने की जरूरत क्या थी?

बिहार बीजेपी के बड़े नेता सुशील मोदी ने खुलासा किया है कि बीजेपी सांसद रमा देवी ने लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप को जमीन दान में दी थी. लगभग 13 एकड़ जमीन 1992 में तेज प्रताप यादव को दान में दी गई. जिस वक्त ये दान दिया गया उस वक्त तेज प्रताप की उम्र महज 3 साल 8 महीने थी. ये जमीन सेवा के नाम पर दी गई. दी गयी जमीन मुजफ्फरपुर के मौजा किशुनगंज, थाना कुढ़नी में पड़ती है.

सुशील मोदी का कहना है कि जिस वक्त ये जमीन दान में दी गई उस वक्त रमा देवी पार्टी लालू की पार्टी में नहीं थीं. ऐसे में उन पर कोई कार्रवाई नहीं होगी. लेकिन बड़ा सवाल ये है कि महज 3 साल की उम्र में तेजप्रताप ने रमा देवी की ऐसी कौन सी सेवा कर दी जिसके एवज में उन्होंने इतनी बड़ी जमीन दान की.

Share.

About Author

Maintain by Designwell Infotech