जब इन हस्तियों के मुंह पर लगी कालिख.

0

राजनेताओं से लोग अलग-अलग तरीकों से अपना विरोध जताते रहे हैं. पहले पुतले जलाकर विरोध किया जाता था. फिर जूता फेंकने का दौर आया, लेकिन आजकल स्याही पसंदीदा हथियार बनती दिख रही है. आइये देखें विरोध के इस नए तरीके की कौन सी हस्तियां पन चुकी हैं शिकार

चुनाव प्रचार के दौरान रोड शो कर रहे अरविंद केजरीवाल पर एक शख्स ने विरोध जताने के लिए स्याही फेंक दी थी. इस मामले में अंबरीष सिंह नामक एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया था.

स्याही से योग गुरु बाबा रामदेव भी नहीं बच सके. नई दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक व्यक्ति ने उन पर स्याही से हमला कर दिया था.

पेशी के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय पर पेशे से वकील ग्वालियर निवासी मनोज शर्मा नामक शख्स ने स्याही उड़ेल दी. घटना के बाद सहारा समर्थकों ने उक्त शख्स की पिटाई कर दी थी.

महिला दिवस पर आयोजित एक समारोह में मीडिया से बात कर रहे पूर्व ‘आप’ नेता योगेंद्र यादव पर पीछे से आकर चेहरे पर स्याही मली गई. इस घटना को ‘आप’ से नाखुश शालीमार बाग निवासी ‘आम आदमी’ सागर भंडारी ने अंजाम दिया था

बीजेपी से जुड़े रहे ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन, मुंबई के अध्यक्ष सुधींद्र कुलकर्णी पर हाल ही में शिव सेना के कार्यकर्ताओं ने स्याही फेंक दी. पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की लिखी किताब के विमोचन के कार्यक्रम में जाने के विरोध में शिव सेना कार्यकर्ताओं ने उन पर स्याही फेंकी.

इस महीने के शुरू में श्रीनगर में गोमांस पार्टी का आयोजन करने के विरोध में आज दिल्ली प्रेस क्लब में जम्मू कश्मीर के विधायक शेख अब्दुल राशिद के चेहरे पर पेंट और स्याही पोत दी.

Share.

About Author

Maintain by Designwell Infotech