'Blue Whale' type games totally …

  New Delhi: Games like …

Government approves new Metro Ra…

  New Delhi: The Union C…

Central Bank of India celebrated…

 Central Bank of India Na…

Tripura CM slams Prasar Bharati …

  Agartala: Tripura Chie…

Overflowing rivers inundate new …

  Patna: The overall flo…

Maharashtra lawyer files plea te…

  Aurangabad (Maharashtr…

Moroccan King greets Indian Pres…

  New Delhi/Rabat: The K…

Rahul Gandhi inaugurates Indira …

  Bengaluru: Congress Vi…

Dena Bank celebrated the 71st In…

Dena Bank- Dena Bank cele…

SC orders NIA probe into Kerala …

  New Delhi: The Supreme…

«
»
TwitterFacebookPinterestGoogle+

स्वामीनाथन को मैदान में उतार सकती है कांग्रेस

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

नई दिल्लीराष्ट्रपित चुनाव के उम्मीदवार के लिए विपक्ष पिछले कई दिनों से माथापच्ची कर रहा है. एनडीए की तरफ से रामनाथ कोविंद को उम्मीदवार बनाए जाने के बाद अब खबर है कि कांग्रेस हरित क्रांति के जनक एमएस स्वामीनाथन को राष्ट्रपति चुनाव में उतार सकती है. सूत्रों के मुताबकि स्वामीनाथन कांग्रेस की पहली पसंद हैं.

swaminathan

 

सूत्रों के मुताबिक, एमएस स्वामीनाथन के नाम के जरिए कांग्रेस को शिवसेना का साथ भी मिलने की आस है, अगर ऐसा हुआ तो एनडीए को इससे करारा झटका लगेगा और इससे एनडीए में फ़ूट का सन्देश भी जाएगा.

 

दरअसल कांग्रेस एनडीए के दलित कार्ड के सामने किसान कार्ड खेलना चाहती है. बता दें कि रामनाथ कोविंद दलित समाज से आते हैं वहीं, एमएस स्वामीनाथन को हरित क्रांति का जनक माना जाता है. कांग्रेस बाकी विपक्षी दलों से चर्चा के बाद जल्दी ही स्वामीनाथन से संपर्क कर सकती है. कांग्रेस किसी राजनेता के मुकाबले पीपुल्स प्रेसिडेंट पर ज़ोर दे रही है.

 

कहा ये भी जा रहा है कि विपक्षी दल नहीं अड़े तो कांग्रेस अपनी पार्टी का उम्मीदवार उतारने की इच्छुक नहीं है. लेकिन अगर विपक्षी दल अड़े तो दलित नेता मीरा कुमार को विपक्ष उम्मीदवार बनाएगी. मीरा कुमार लोकसभा की पूर्व अध्यक्ष रह चुकी हैं.

 

 

कांग्रेस का मानना है कि जैसे प्रतिभा पाटिल के खिलाफ बीजेपी भैंरो सिंह को लड़ाकर महिला विरोधी नहीं हुई थी. वैसे ही दलित कोविंद के खिलाफ किसी अन्य को लड़ाने से वो भी दलित विरोधी नहीं हो जाएगी. कांग्रेस मानती है कि इस वक्त अंकगणित पूरी तरह बीजेपी के उम्मीदवार के हक़ में है, इसलिए विपक्ष का उम्मीदवार विचारधारा का प्रतीक मात्र होगा और विपक्षी एकता 2019 के लिए काम आएगी. हालांकि अंतिम फैसला सभी विपक्षी दलों का का ही होगा.

एमएस स्वामीनाथन को देश में हरित क्रांति का जनक माना जाता है. यह देश के मशहूर कृषि वैज्ञानिक हैं. स्वामीनाथन ने खाघान में देश को आत्मनिर्भर बनाया है. स्वामीनाथन को पद्मश्री, पद्म भूषण, पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया जा चुका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA Image

*