Will phase out diesel locomotive…

  New Delhi: Coal and Ra…

Thousands pay last respects to D…

  Kolkata: Thousands of …

Kovind in Manipur amid general s…

  Imphal: President Ram …

Aadhaar linking problematic: Mam…

  Kolkata: West Bengal C…

Railways to use Artificial Intel…

  New Delhi: Aiming to r…

Karnataka CM tells Haryana to ac…

  Bengaluru: Karnataka C…

Need to double number of operati…

  New Delhi: To meet the…

Winter session will be held, del…

  Gandhinagar: Counterin…

SC rejects plea to block 'Padmav…

  New Delhi: The Supreme…

'Padmavati' controversy 'super e…

  Kolkata: West Bengal C…

«
»
TwitterFacebookPinterestGoogle+

जीएसटी के विरोध में सूरत के व्यापारियों का प्रदर्शन

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

नई दिल्लीः देश में गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स लागू हुए आज आठ दिन हो गए हैं लेकिन इसका विरोध अब भी जारी है. आज गुजरात के सूरत में हजारों कपड़ा व्यापारी जीएसटी के विरोध में सड़क पर उतरे. शहर के टेक्सटाइल मार्केट से लेकर रिंग रोड तक मार्च निकाला गया. सूरत में 40 हजार से भी ज्यादा थोक कपड़ा व्यापारी एक जुलाई से हड़ताल पर हैं.

surat

सूरत के पुलिस आयुक्त सतीश शर्मा ने बताया  कि ”हालात बेकाबू हो गए थे ऐसे में हमें मजबूरन लाठीजार्च करना पड़ा.” वहीं दूसरी ओर व्यापारियों का कहना है कि वह शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे.

व्यापारियों का कहना है कि गार्मेंट के कारोबार में कई चरण होते हैं इसलिए जीएसटी लागू होने से उनकी परेशानियां कई गुना ज्यादा बढ़ गई हैं. एक अनुमान के मुताबिक सूरत में कपड़ा कारोबार ठप होने से रोज करीब 150 करोड़ का नुकसान हो रहा है.

30 जून की आधी रात को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने देश में जीसएटी लॉन्च किया था. इसके साथ ही सभी इन-डायरेक्ट टैक्स खत्म कर दिया गया है और प्रोडक्ट को चार टैक्स स्लैब 5%, 12%,18% और 28% में रखा गया है. आपको बता दें कि देश में सीथेंटीक्स कपडे के उत्पादन का 60 % काम सूरत में ही होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CAPTCHA Image

*